बड़ी खबर

पाकिस्तान ने माना-भारतीय सेना ने POK में मचाई तबाही, निशाने पर आए इमरान खान


इस्‍लामाबाद। भारतीयों के प्रकाश पर्व दीपावली को ‘काली’ करने की पाकिस्‍तानी सेना की नापाक हरकत खुद उसे ही बड़ी भारी पड़ी है। जम्‍मू-कश्‍मीर में नियंत्रण रेखा पर सीजफायर उल्‍लंघन करके गोलाबारी करने वाली पाकिस्‍तानी सेना को 11 जवानों से हाथ धोना पड़ा और भारतीय सेना के भीषण हमले ने उन्‍हें भागने को मजबूर कर दिया। भारत के जोरदार पलटवार को एक तरफ जहां पाकिस्‍तानी सेना छिपाने में लगी हुई है, वहीं पाक अधिकृत कश्‍मीर के नेताओं ने माना है कि POK के नीलम और लीपा घाटी में भारतीय सेना ने अब तक की सबसे बड़ी तबाही मचाई है।

पाकिस्‍तानी अखबार डॉन की रिपोर्ट के मुताबिक पीओके के सिव‍िल ड‍िफेंस और आपदा प्रबंधन मामलों के सेक्रेटरी सैयद शाहिद मोहयिद्दीन कादरी ने माना कि भारतीय सेना ने नीलम घाटी, लीपा घाटी और मुजफ्फराबाद जिले के नौसेरा सेक्‍टर में भीषण तबाही मचाई है। उन्‍होंने कहा, ‘नीलम घाटी में भारत की ओर से की गई यह अब तक की सबसे बड़ी गोलाबारी है। इस पहले पिछले साल भी भारत की ओर से पिछले साल जोरदार बमबारी की गई थी।’

नीलम घाटी के उपायुक्‍त राजा महमूद शाहिद ने कहा कि गोलाबारी में चार लोगों की मौत हो गई है और 25 से ज्‍यादा लोग घायल हो गए हैं। पाकिस्‍तान ने दावा किया कि इस हमले में कम से कम 15 घर तबाह हो गए हैं। उधर, भारत के इस जोरदार पलटवार से घबराए पीओके के कथित प्रधानमंत्री राजा फारुक हैदर ने प्रधानमंत्री इमरान खान पर निशाना साधा। उन्‍होंने कहा कि प्रधानमंत्री इमरान खान को बताना चाहिए कि नियंत्रण रेखा पर नागरिकों की सुरक्षा के लिए कौन जिम्‍मेदार है और हमें कब तक इस तरह की भीषण तबाही का सामना करना पड़ेगा।

पाकिस्‍तानी संसद सीनेट के डेप्‍युटी चेयरमैन सलीम मंडवीवाला ने एलओसी का दौरा करके कहा कि भारतीय सेना गोले नहीं बल्कि बम बरसा रही है। बता दें कि भारतीय सेना की जवाबी कार्रवाई में कम से कम 11 पाक सैनिक मारे गए हैं और कई घायल हो गए हैं। पाकिस्‍तानी अखबार डॉन ने सेना के हवाले से कहा कि एक पाकिस्तानी सैनिक की जान गई है और चार नागरिक मारे गए हैं। साथ ही 12 नागरिक और 5 सैनिक घायल हुए हैं। डॉन ने DG ISPR के हवाले से ट्वीट किया है कि भारतीय सेना ने राखचिकरी और खंजर सेक्टर में आम नागरिकों को रॉकेट और मोर्टार का निशाना बनाया।

पाक सेना ने किया 4,052 बार सीजफायर उल्लंघन
बता दें कि पाकिस्तान की सेना ने इस साल 4,052 बार सीजफायर उल्लंघन किया है जो 17 साल में सबसे ज्यादा है। ISPR ने यह भी कहा है कि 7-8 नवंबर को भारतीय सेना का ‘आजादी’ की लड़ाई लड़ने वालों से सामना हुआ था जिसमें भारतीय सैनिकों की जान चली गई थी। ISPR का कहना है कि इसके बाद भारत ने पाकिस्तान के खिलाफ सीजफायर उल्लंघन किया है और आर्टिलरी के साथ हेवी मोर्टार से हमला किया

भारत ने बताया, दिया माकूल जवाब
वहीं, भारत के चिनार कॉर्प्स ने जानकारी दी है कि भारत ने जवाबी कार्रवाई में पोस्ट्स, बंकरों और ईंधन के अड्डों को निशाना बनाया है। पाक की हरकत में चार भारतीय सैनिक और चार नागरिकों की जान चली गई जिनमें एक महिला शामिल थी। चिनार कॉर्प्स ने ट्वीट कर जानकारी दी कि भारतीय सेना को कुपवाड़ा में संदिग्ध गतिविधियों की जानकारी मिली जिसके बाद पाकिस्तान ने बिना उकसावे के सीजफायर उल्लंघन किया। इस दौरान घुसपैठ की कोशिश की नाकाम किया गया है। पाक की हरकत का भारतीय सेना ने माकूल जवाब दिया और पाकिस्तानी सेना के इन्फ्रास्ट्रक्टर को नुकसान पहुंचाया। इस दौरान पाकिस्तान के हथियारखाने और आतंकियों के लॉन्च पैड भी तहस नहस हुए हैं।

 

Next Post

Prime minister मोदी ने नेहरू की जयंती पर दी विनम्र श्रद्धांजलि

Sat Nov 14 , 2020
नयी दिल्ली । प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Prime Minister Modi ) ने देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू को उनकी जयंती पर विनम्र श्रद्धांजलि दी है। पंडित नेहरु की आज 131 वीं जयंती है। प्रथम प्रधानमंत्री बच्चों में चाचा नेहरु के रूप में लोकप्रिय थे और उनके जन्मदिन को बाल दिवस के रूप में […]