भोपाल

सामान्य हालात होने पर भी लंबे समय तक रहेगी भीड़-भाड़ वाले आयाजनों पर रोक

  • मुख्यमंत्री ने कहा प्रदेश में संक्रमण दर घटी है, परंतु अभी ढिलाई नहीं

भोपाल। प्रदेश में कोरोना (Corona) का संक्रमण (Infection) कम हो रहा है। कुछ जिलों में कोरोना कर्फ्यू (Corona Curfew) में ढील देने की तैयारी है। इस बीच मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) ने प्रदेश की जनता को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण (Corona Infection) दर 24 प्रतिशत से घटकर अब 11.8 प्रतिशत रह गई है। अभी बिल्कुल भी ढिलाई नहीं करनी है, पूरी कड़ाई के साथ कोरोना (Corona) से लडऩा है। प्रदेश में सामान्य हालात होने के बावजूद भी भीड़भाड़ वाले कायक्रमों पर लंबे समय तक पाबंदी रहेगी। जिससे भविष्य में किसी भी तरह के संक्रमण (Infection) से निपटा जा सके।
मुख्यमंत्री चौहान (Chief Minister Chauhan) ने कहा कि कोरोना (Corona) महामारी लंबे समय तक चल सकती है, ऐसे में हर व्यक्ति को कोरोना (Corona) के प्रति जागरूक होना पड़ेगा। अपनी जीवनशैली बदलनी होगी। आगे भी मास्क लगाना, एक-दूसरे से दूरी रखना, भीड़ भरे आयोजन न करना आदि सावधानियां बरतनी होंगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि कई जिलों कोरोना संक्रमण की दर 5 फीसदी से कम है, इन जिलों में जिला आपदा प्रबंधन समिति प्रदेश से चर्चा करने के बाद कोरोना कर्फ्यू में ढील दे सकता है। न्यूनतम संक्रमण वाले जिलों में क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप आने वाले समय में कर्फ्यू खोलने के लिए फार्मूला बना लें। हालांकि मुख्यमंत्री ने कलेक्टरों को कोरोना कर्फ्यू के आगे बढ़ाने को कहा है। उन्होंने कहा कि यदि ढिलाई दी तो फिर हालात बिगड़ सकते हैं, ऐसे में किसी स्तर अभी कड़ाई जारी रहेगी।

कर्मचारियों के उपचार के लिए बनेगी योजना
मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना में कई विभागों के कर्मचारी फ्रंटलाइन वर्कर के रूप में काम कर रहे हैं। इसलिए कर्मचारियों के इलाज के लिए जल्द ही योजना बनेगी। मुख्यमंत्री ने सबसे पहले कोरोना योद्धाओं को सलाम किया, जिन्होंने जनता की सेवा में अपनी जान लगा दी। उन्होंने कहा कि हम सभी कोरोना योद्धाओं को सम्मानित करेंगे।

10 वीं की परीक्षाएं निरस्त
प्रदेश में कोरोना संक्रमण के चलते राज्य सरकार ने आखिरकार दसवी बोर्ड की परीक्षाएं निरस्त करने का निर्णय ले लिया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि दसवीं का परिणाम आंतरिक मूल्याकन के आधार पर तैयार होगा। छात्रों को सर्टिफिकेट दे दिया जाएगा। जबकि बाहरवीं की परीक्षा हालात सामान्य होने पर पंद्रह दिन के भीतर ले ली जाएगी। फिलहाल 12वीं की परीक्षा स्थगित कर दी गई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों के फसल ऋण की अदायगी की तिथि को 31 मई से बढ़ाकर 30 जून कर दिया गया है।

2400 स्वास्थ्य कर्मियों की भर्ती की जाएगी
प्रदेश में आगामी एक माह में 2400 स्वास्थ्य कर्मियों की भर्ती की जाएगी। जिनमें 800 डॉक्टर, 800 नर्स तथा 800 टेक्नीशियन होंगे। इसके अलावा स्वास्थ्य सुविधाओं का विस्तार करते हुए 5000 ऑक्सीजन बेड, 01हजार आई.सी.यू बेड तथा 500 बेड्स बच्चों के लिए बढ़ाए जा रहे हैं। प्रदेश में 100 से ज्यादा ऑक्सीजन प्लांट लगाए जा रहे हैं।

बीमारी छिपाएं नहीं बताएं
किल कोरोना अभियान में ग्रामों एवं कस्बों में सर्वे दल घर-घर जा रहे हैं। सर्दी, जुकाम, बुखार आदि बीमारी होने पर छुपाएं नहीं बताएं। वे तुरंत आपको नि:शुल्क मेडिकल किट देंगे, आपकी जाँच कराएंगे तथा कोविड पाए जाने पर आपको होम आयसोलेशन, कोविड केयर सेंटर अथवा आवश्यकता होने पर अस्पताल में भर्ती कराएंगे। किसी नीम हकीम के चक्कर में न पड़े, बीमारी को बताएं तथा इलाज कराएं। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि कोरोना का टैस्ट कराना हर नागरिक का अधिकार है। सरकार द्वारा टैस्ट की नि: शुल्क व्यवस्था की गई है, जो भी चाहे कोरोना का टैस्ट कराए।

Next Post

एक ट्वीट की वजह से मुश्किल में फंसे Gautam Gambhir, दिल्ली पुलिस जांच में जुटी

Sat May 15 , 2021
नई दिल्ली। भारत के पूर्व बल्लेबाज और भाजपा सांसद गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) कोरोना काल में सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहते हैं। गौतम गंभीर लोगों की मदद में दिन-रात जुटे हैं हालांकि इस वजह से वो मुश्किलों में पड़ गए हैं। अब गंभीर (Gautam Gambhir) दिल्ली पुलिस के रडार में आ गए हैं। ये […]