खेल बड़ी खबर

सौरव गांगुली के इस्तीफे की अटकलों पर लगा विराम, जय शाह ने दिया बड़ा अपडेट

नई दिल्‍ली। सौरव गांगुली के द्वारा किए गए ट्वीट के बाद बीसीसीआई के सचिव जय शाह(Secretary Jay Shah) ने उन सभी अटकलों पर विराम लगा दिया है जिसमें कहा जा रहा था कि वे बोर्ड के अध्यक्ष से पद से इस्तीफा दे रहे हैं। समाचार एजेंसी एएनआई से बात करते हुए जय शाह ने कहा, ”सौरव गांगुली(Sourav Ganguly) के बीसीसीआई अध्यक्ष के पद से हटने की अफवाहें तथ्यात्मक रूप से गलत हैं। मीडिया अधिकारों से संबंधित हमारे पास कुछ रोमांचक कार्य आने वाला है। मैं और मेरे सहयोगी सौरव का ध्यान पूरी तरह से उस पर केंद्रित है और हम मिलकर भारतीय क्रिकेट (Indian cricket) के हितों की रक्षा काम कर रहे हैं।”

दरअसल सौरव गांगुली ने सोशल मीडिया()social media पर एक ट्वीट किया था जिसमें उन्होंने अपनी जिंदगी की नई शुरुआत की बात लिखीं। उनके इस ट्वीट के बाद से मीडिया में कयास लगाए जाने लगे कि सौरव गांगुली बीसीसीआई के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे सकते हैं। हालांकि जय शाह के इस बयान के बाद अब सभी तरह की अटकलों पर विराम लग गया है।


अपने ट्वीट में सौरव ने कहा, “1992 से शुरू हुए मेरे क्रिकेट करियर को 2022 में 30 साल पूरे हो गए हैं। मुझे इससे काफी कुछ मिला है। सबसे खास रहा आप सभी का साथ। मैं उस हर एक व्यक्ति का शुक्रिया अदा करना चाहता हूं जिसने मेरे इस सफर में मेरी मदद की, मेरा साथ दिया और मैं आज जहां भी हूं वहां पहुंचाने में अहम योगदान दिया। आज मैं कुछ ऐसा शुरू करने वाला हूं जिससे कई लोगों को मदद मिलेगी। मुझे आशा है मेरे इस सफर में भी आप सब मेरा साथ देंगे।”

दरअसल पिछले कुछ दिनों से सौरव गांगुली के राजनीति में आने की चर्चा भी जोरों से हो रही थी। हाल ही में अमित शाह भी सौरव गांगुली के घर खाने पर पहुंचे थे। अटकलें यह भी थीं कि दादा बीजेपी की तरफ से राज्यसभा सदस्य मनोनीत किए जा सकते हैं। हालांकि अब यह साफ हो चुका है वह अध्यक्ष पद से इस्तीफा नहीं दे रहे हैं।

वहीं सौरव गांगुली ने अक्टूबर 2019 में बीसीसीआई के अध्यक्ष पद पर नियुक्त किया गया था। इसके बाद से ही वह बीसीसीआई के इस पद पर बने हुए हैं।

Share:

Next Post

भारत ने अनाज की कमी से परेशान तुर्की के लिए भेजा था गेहूं का कंसाइनमेंट, बदले में मिला ऐसा जवाब

Thu Jun 2 , 2022
नई दिल्‍ली । खुद को पाकिस्तान का आयरन ब्रदर कहने वाले तुर्की (Turkey) ने एक बार फिर भारत (India) के खिलाफ अपनी झल्लाहट जाहिर की है. अनाज की कमी से परेशान तुर्की की मदद के लिए भारत ने गेहूं से भरा कंसाइनमेंट (Wheat Consignment) भेजा था लेकिन उसने इसे लेने से इनकार कर दिया. ऐसा […]