इंदौर न्यूज़ (Indore News)

विजय नगर में श्वान का अंतिम संस्कार, आज तीसरा भी

विजय नगर के व्यास परिवार में घर के सदस्य की तरह15 साल से रह रही थी मादा श्वान
इंदौर। संजीव मालवीय
आदिकाल से श्वान (Dogs) और अश्व ने जो नाता इंसानों (Humans) से जोड़ा आज तक वे उसे पूरी वफादारी (Loyalty) से निभा रहे हैं। एक बार इंसान स्वार्थ के कारण दूसरे इंसान को धोखा दे जाता है, लेकिन श्वान मरते दम तक भी अपने मालिक (Owner) के प्रति वफादारी निभाता है। ऐसा ही एक प्रसंग विजयनगर (Vijayanagara) में देखने को मिला। 15 साल तक एक मादा श्वान (female dog) व्यास परिवार (Vyas Parivar) के सदस्य के रूप में रही और जब उसकी मौत हुई तो परिवार ने इंसानों की तरह ही उसका अंतिम संस्कार (Funeral) किया और आज तीसरे की रस्म पूरी कर उसकी अस्थियां नर्मदा नदी (Bones Narmada River) में विसर्जन के लिए ले गए।

विजय नगर में रहने वाली साधना व्यास 2007 में लेब्रा प्रजाति की मादा श्वान (female dog)  को घर में लाई थीं। उसका नाम परिवार ने प्यार से लैला रखा। अपने दो बेटों के साथ-साथ साधना ने उसका ध्यान परिवार के किसी सदस्य की तरह ही रखा। स्कीम नंबर 78 में संघमित्रा बुटिक (Sanghamitra Boutique) संचालित करने वाली साधना व्यास के साथ लैला रोज बुटिक पर जाती थी, जिससे बुटिक पर आने वाले और वहां काम करने वाले लोगों से भी उसका लगाव हो गया था। लैला न तो साधना को एक पल के लिए छोड़ती थी और न ही साधना लैला को। एक बार जब उन्हें पैर में चोट लगी तो लैला भले ही श्वान होकर उनकी शारीरिक मदद नहीं कर पाई, लेकिन वह पूरे समय उनके आगे-पीछे घूमती रही। वह घर में दूसरी मंजिल पर चढ़तीं-उतरतीं तो उनके आगे-आगे हो जाती, ताकि वे धीरे से उतर सकें। परसों शाम तबीयत बिगडऩे पर लैला की मौत हो गई। परिवार ने रातभर गम में खाना तक नहीं खाया। कल लैला का अंतिम संस्कार (Funeral) पूरे रीति-रिवाज के साथ इंसानों की तरह किया गया और उसे अग्नि दी गई। अंतिम संस्कार (Funeral)  में साधना व्यास के परिवार के साथ ही बुटिक पर काम करने वाले अनिल जाटव, सुरेश, राजेश और अन्य भी शामिल हुए। आज सुबह तीसरे की रस्म भी की गई और उसकी अस्थियां नर्मदा नदी में प्रवाहित की गईं।

Share:

Next Post

खातीपुरा चौराहे पर लेफ्ट टर्न में बाधक 5 दुकानें हटाईं

Sat Jan 22 , 2022
बाद में पहुंचे परिवारों ने खूब हंगामा किया, दुकानदारों ने किया विरोध, कहा-हम मंदिर ट्रस्ट के किराएदार रहे हैं इंदौर। आज सुबह-सुबह नगर निगम (municipal Corporation) के रिमूवल अमले ने खातीपुरा चौराहे (Khatipura Crossroads) पर राम मंदिर के समीप बनी पांच विवादित दुकानों को जेसीबी की मदद से ढहा दिया। जब वहां कार्रवाई चल रही […]