बड़ी खबर

Solar Eclipse 2021: सूर्य ग्रहण से होने जा रही ये तबाही? ज्योतिषियों ने की बड़े संकट की भविष्यवाणी

नई दिल्ली: दुनिया में आज वर्ष 2021 का पहला सूर्य ग्रहण (Solar Eclipse 2021) है. ज्योतिषियों का कहना है कि इस सूर्य ग्रहण का देश-दुनिया पर इसका काफी प्रभाव पड़ेगा.

भारत के कुछ ही हिस्सों में दिखेगा ग्रहण
बताते चलें कि इस साल का यह पहला सूर्य ग्रहण (Solar Eclipse 2021) भारत (India) में अरुणाचल प्रदेश के कुछ हिस्सों और लद्दाख में ही आंशिक रूप से दिखाई देगा. ये ग्रहण दोपहर 1 बजकर 42 मिनट पर शुरू होकर शाम 6 बजकर 41 मिनट तक चलेगा.

ज्योतिष शास्त्रियों (Astrologer) के मुताबिक ये सूर्य ग्रहण ये सूर्य ग्रहण (Solar Eclipse 2021) वृष राशि में पड़ने जा रहा है. वृष राशि पृथ्वी तत्व की राशि है. ऐसे में ये सूर्य ग्रहण मार्गशीर्ष नक्षत्र यानी मंगल के नक्षत्र में होगा. मंगल और शुक्र एक दूसरे के घोर विरोधी माने जाते हैं. शुक्र ग्रह को सौंदर्य और मंगल ग्रह को लड़ाई-झगड़े के लिए जिम्मेदार माना जाता है. ऐसे में इस ग्रहण से देश-दुनिया में युद्ध या अग्निकांड जैसे हालात जन्म ले सकते हैं.

दुनिया में आ सकती हैं आपदाएं
ज्योतिष शास्त्रियों (Astrologer) के अनुसार, अगर संसार के मूल ऊर्जा स्रोत यानी सूर्य को ग्रहण लग जाए तो अनिष्ट होना निश्चित है. इस बार केतु वृश्चिक राशि में बैठा है. ऐसे में इस सूर्य ग्रहण पर चतुर्ग्रही योग बनेगा. ऐसे में जब राहु और बुध आपस में मिलेंगे तो प्राकृतिक दोष बनेगा. इसलिए प्रकृति की तरफ से अग्निकांड जैसी स्थिति हो सकती है. इसके अलावा, भूकंप, भूचाल या अग्निकांड आने की संभावना हो सकती है.

भारत को हो सकती है ये परेशानी
खास बात ये है कि भारत देश की लग्न कुंडली में ये ग्रहण पड़ रहा है. इसका सीधा असर 7वें भाव पर पड़ता है. चूंकि भारत (India) के अरुणाचल प्रदेश और कश्मीर में चंद्रगहण दिखाई दिया था और अब सूर्य ग्रहण (Solar Eclipse 2021) भी लगने जा रहा है तो उथल-पुथल की आशंका दिख रही है. भारत के पूर्वी हिस्से यानी अरुणाचल प्रदेश, असम, नागालैंड और कश्मीर या कश्मीर से जुड़े पंजाब से देश में संकट की स्थिति पैदा हो सकती है. देश के इन हिस्सों में आने वाले 45 दिनों के अंदर घुसपैठ जैसी स्थिति या सीमा पर बहुत बड़ा संकट उत्पन्न हो सकता है.

अमेरिका-चीन के बीच युद्ध की आशंका
ज्योतिष शास्त्रियों (Astrologer) का कहना है कि आने वाले 45 दिनों से 90 दिनों के भीतर अमेरिका और चीन के बीच युद्ध की स्थिति पैदा हो सकती है. युद्ध की तनावपूर्ण स्थिति दुनिया के सेंटर में देखी जाती है. संसार के मध्य भाग को किबला कहा गया है यानी इजराइल का क्षेत्र. ज्योतिष के अनुसार, वहां फिर से युद्ध की स्थिति देखा जा सकती है. हालांकि भारत (India) अपनी अंतरराष्ट्रीय नीति से युद्ध जैसे हालातों पर काबू पाने में सफल साबित होगा.

Next Post

प्रदेश में समाप्ति की ओर है Corona अब Vaccination पर दें जोर

Thu Jun 10 , 2021
50 जिलों मेंं संक्रमण दर 2 फीसदी से नीचे भोपाल। प्रदेश में कोरोना संक्रमण (Corona Infection) अब समाप्ति की ओर है। प्रदेश में कोरोना (Corona) के नए प्रकरण 500 से नीचे आए हैं और 50 जिलों में साप्ताहिक पॉजिटिविटी रेट 2 फीसदी (Weekly Positivity rate 2%) से नीचे आ गई है। संक्रमण (Infection) की दृष्टि […]