विदेश

तीसरे वर्ल्ड वॉर की तैयारी शुरू, US ने किया एलिफेंट वॉक तो मास्को में बनने लगे बम बंकर

नई दिल्ली: यूक्रेन में जारी जंग में अब सुपर पावर अमेरिका और रूस सीधे टकराने जा रहे हैं. जिसके बाद इस टकराव का वर्ल्ड वॉर में बदलना तय है. सुपरपावर की सीधी टक्कर की रिपोर्ट एक सीनियर अमेरिकी सैन्य अधिकारी के हवाले से आई है, जिसके मुताबिक रूस किसी भी वक्त टैक्टिकल न्यूक्लियर वेपन चलाने वाला है और ये सिर्फ आंकलन नहीं है, बल्कि इसके साफ संकेत भी मिल रहे हैं. रूस जमीन से आसमान तक जो जाल बिछा रहा है, वो अमेरिका से ही टकराने का संकेत है.

रूस की इस चाल को भांपने के बाद अमेरिका ने भी अपनी न्यूक्लियर तैयारी का Power Show लॉन्च कर दिया है. ह्वाइट हाउस को एक ऐसा खुफिया इनपुट मिला है, जिससे अमेरिका ने अपने बॉम्बर वॉर रेडी कर दिए हैं. अमेरिका के एक बड़े सैन्य अधिकारी को जानकारी मिली है कि परमाणु विस्फोट की आशंका कभी भी भयावह वास्तविकता बन सकती है. खुफिया रिपोर्ट के मुताबिक, आशंका है कि रूस टैक्टिकल न्यूक्लियर वेपन का परीक्षण कर सकता है. ये टेस्ट Black Sea में किया जा सकता है.

अमेरिका ने तैयार किए एटमी बॉम्बर
टैक्टिकल न्यूक्लियर वेपन के परीक्षण का मतलब युद्ध में हार को जीत में बदलने की तैयारी है. क्रेमलिन की फाइलों से निकली इस खुफिया जानकारी के बाद अमेरिका ने भी अपने परमाणु बॉम्बर युद्ध के लिए तैयार कर दिए हैं. मैसूरी के वाइटमैन एयरफोर्स बेस पर अमेरिका के B-2 Spirit स्टेल्थ बॉम्बर्स ने उड़ान भरी है. इन बॉम्बर्स ने जिस पॉजिशन में उड़ान भरी उसे एलिफेंट वॉक कहा जाता है.

एलिफेंट वॉक का सीधा मतलब दुश्मन को चेतावनी देना और अपनी ताकत का प्रदर्शन है. अमेरिका ने स्टेल्थ बॉम्बर रूस को चेतावनी देने के लिए उड़ाए. क्रेमलिन से निकली खुफिया जानकारी और B2 बॉम्बर की उड़ान वर्ल्ड छिड़ने की आशंका के सबसे बड़े संकेत हैं. वाइटमैन एयरफोर्स बेस अमेरिका के बॉम्बर्स ने उड़ान भरी तो रूस ने अपने Su-30SM और Su-35S फाइटर जेट उड़ाकर चेतावनी जारी कर दी.

रूस में बनाए जा रहे हैं बम शेल्टर
पुतिन ने तीन मोर्चे पर बड़ी तैयारी की है. फाइटर जेट और बॉम्बर उतारने के साथ ही महासागर में भी महाविनाशक मिसाइलें तैनात कर दी हैं. वहीं यूक्रेन पर लगातार बम वर्षा करने युद्ध के मैदान में पहुंचने वाला है Tu-22M3 बॉम्बर. ये महाविनाशक बॉम्बर पहले से ज्यादा घातक, पहले से ज्यादा अपडेट हो चुके हैं. रूस की डिफेंस फर्म ने Tu-22M3 बॉम्बर सेना को डिलीवर कर दिया है. ये बॉम्बर लॉन्ग रेंज मल्टी मॉडल मिसाइल कैरियर हैं. इसका अपडेटेड वर्जन रूस को कुछ साल बाद मिलना था, लेकिन इस बॉम्बर को तय समय से पहले अपडेट किया गया है.

यूक्रेन को इनपुट ये मिला है कि इस बॉम्बर के जरिए पूरे यूक्रेन पर बम वर्षा की जा सकती है. डेली स्टार (Daily News) की रिपोर्ट के मुताबिक, मॉस्को में भी लोग बम शेल्टर बना रहे हैं. यहां तक कि यूक्रेन बॉर्डर से 2 हजार किलोमीटर दूर Novokuznetsk शहर में लोगों को यूक्रेन के हमले का डर है और वो बंकर बनाने लगे हैं. रूस ने जो युद्ध 9 महीने पहले शुरू किया था अब वही उसका संकट बन गया है. इसीलिए आशंका है कि रूस कभी भी परमाणु युद्ध शुरू कर सकता है.

Share:

Next Post

13000 से ज्यादा मतदान केंद्रों की लाइव वेबकास्टिंग, ट्रांसपेरेंसी के लिए EC के सख्त आदेश

Thu Dec 1 , 2022
नई दिल्ली: गुजरात विधानसभा चुनाव के पहले चरण का आज मतदान हो रहा है. इस बीच चुनाव आयोग ने 19 जिलों के 13,065 मतदान केंद्रों पर लाइव वेबकास्टिंग का आदेश दिया है. आयोग ने यह कदम राज्य में चुनावी प्रक्रिया को ट्रांसपेरेंट बनाने के नजरिए से उठाए हैं. आयोग के इस आदेश पर पहले चरण […]