ज़रा हटके विदेश

30 सिगरेट और 4 लीटर कोल्ड ड्रिंक! 300 किलो के इस शख्‍स की थी चौंकाने वाली डाइट

नई दिल्‍ली। सुस्त लाइफस्टाइल और गलत खान-पान (Wrong eating) के कारण हर किसी का वजन बढ़ जाता है. एक्सपर्ट कहते हैं कि वजन बढ़ना(gaining weight) और कम होना, खाने की आदत पर निर्भर करता है इसलिए हर किसी को अपने खाने की आदत सही रखना चाहिए. गलत खाने की आदत से इंसान का इतना बुरा हाल हो सकता है कि कुछ मामलों में उसकी मौत तक हो सकती है और ऐसे कई मामले सामने भी आ चुके हैं.

कुछ समय पहले अपने गलत खाने की आदत से एक व्यक्ति का वजन लगभग 320 किलो हो गया था. इसका वजन इतना अधिक बढ़ गया था कि उसे मेडिकल इमरजेंसी (Medical emergency) के लिए खिड़की तोड़कर क्रेन मशीन से हॉस्पिटल पहुंचाना पड़ा था. उसने इंटरव्यू के दौरान द सन से अपने खाने की आदत के बारे में बात की थी. यह व्यक्ति कौन है? इतना वजन कैसे बढ़ा था? इस बारे में जान लीजिए.


कौन है यह शख्स
ब्रिटेन (Britain) के रहने वाले और यूके के सबसे भारी व्यक्ति का नाम जेसन होल्टन (Jason Holton) है जिनकी उम्र 32 साल है. बताया जाता है कि उनका वजन लगभग 320 किलो था लेकिन उन्होंने कुछ वजन कम कर लिया है. अब वह लगभग 298-200 किलो के हैं. ब्रिटेन के सबसे वजनी व्यक्ति जेसन के बारे में बताया जाता है कि कुछ समय पहले वह मरते-मरते बचे थे. बताया जाता है कि एक समय उनको मेडिकल इमरजेंसी के लिए तुरंत हॉस्पिटल ले जाने की जरूरत हुई. लेकिन उनका वजन इतना अधिक था कि उन्हें हॉस्पिटल ले जाने के लिए 30 फायरमैन और इंजीनियर्स की टीम ने क्रेन की सहायता से 7 घंटे में हॉस्पिटल पहुंचाया था.

सिगरेट-कोल्ड्रिंक छोड़ा तो घटा वजन
The sun के मुताबिक, अभी जेसन का वजन लगभग 298 किलो है. जेसन को ऑनलाइन फूड ऑर्डर(Online food order) करने की लत लग गई थी. वह जब चाहते ऑनलाइन फूड मंगा लेते थे. इस आदत से ही उनका वजन बढ़ना शुरू हुआ था और उनका अधिकतम वजन 320 किलो तक पहुंच चुका था.

जेसन ने एक दिन रात में 3-4 लीटर सॉफ्टड्रिंक पी ली थी, जिस कारण वह सांस नहीं ले पा रहे थे और उन्हें घुटन महसूस हुई. इसके बाद उन्होंने ब्रिटेन की इमरजेंसी मेडिकल सेवा (emergency medical service) को कॉल किया और वे लोग उन्हें बचाने के लिए पहुंच गए.

जेसन को घर से बाहर निकालने में करीब 7 घंटे लगे क्योंकि जेसन अपने पैरों पर खड़े भी नहीं हो पाते थे. उन्हें एंबूलेंस की छत पर बेड के साथ लेटाया गया और फिर हॉस्पिटल लेकर गए. डॉक्टर्स ने उनसे कहा कि मोटापे के कारण उनके अंग खराब हो रहे हैं और शरीर में खून के थक्के बनने लगे हैं.

इसके बाद उसे खून को पतला करने की दवाई दी गई और किडनी को डैमेज होने से बचाने के लिए शरीर में मशीन से पानी डाला गया.

अक्टूबर 2020 में जेसन को वापस से हॉस्पिटल में एडमिट करना पड़ा जहां पर उनके कमर और पैरों में लिम्फेडेमा का इलाज किया गया. लिम्फेडेमा ऐसे स्थिति होती है जिसके कारण पैरों में लिक्विड जमने लगता है.

जून के बाद 2 महीने उन्हें हॉस्पिटल में रखा गया और अगस्त में जेसन को एक खास घर में रखा गया जिसकी कीमत करीब 3.62 करोड़ थी. उसमें 2.72 लाख का स्पेशल टॉयलेट और एक स्पेशल कस्टम बेड भी था, जिसे इमरजेंसी में आसानी से हटाया जा सकता था. अब जेसन का वजन 298 किलो के आसपास है.

पहले लेते थे ऐसी डाइट
जेसन पहले लगभग 5-6 लोगों के बराबर खाना खाया करते थे. रिपोर्ट के मुताबिक, वह हॉस्पिटल में एडमिट होने से पहले करीब 10 हजार कैलोरी ले रहे थे. वह नाश्ते में कबाब और चिप्स (2500 कैलोरी), पॉप टार्ट्स (200 कैलोरी प्रत्येक) लेते थे.

लंच में तीन बड़े चिकन नूडल्स (2500 कैलोरी), झींगा क्रेकर्स (400 कैलोरी) और झींगा टोस्ट (300 कैलोरी) लेते थे. रात के खाने में दो पनीर सैंडविच (1000 कैलोरी), दो चॉकलेट बार (1000 कैलोरी), क्रिस्प के तीन पैकेट (550 कैलोरी), लगभग 1.5 लीटर संतरे का रस (800 कैलोरी) और सॉफ्टड्रिंक की पांच केन (700 कैलोरी) लेते थे. इसके अलावा दिन में कम से कम 30 सिगरेट पिया करते थे.

4 जून को अचानक उनकी तबीयत बिगड़ने से एक दिन पहले 30 सिगरेट से अधिक की छूट दी। उन्होंने दो महीने अस्पताल में बिताए और अगस्त की शुरुआत से ही नर्सिंग होम में हैं।

मात्र डेढ़ लीटर लिक्विड लेते हैं जेसन
जेसन जब हॉस्पिटल में थे तो उन्हें डॉक्टर्स ने नई डाइट देनी शुरू की थी. इंटरव्यू के दौरान जेसन ने बताया था, “मैं 24 घंटे में मात्र डेढ़ लीटर लिक्विड ही पी सकता हूं. मुझे कोई भी ऐसी चीज खाने नहीं दी जा रही है जिसमें पानी हो. मुझे बहुत प्यास लगती है. अगर मुझे कुछ पीने नहीं दिया गया तो मैं पुलिस को कॉल करूंगा कि डिहाड्रेट होने के बाद भी मुझे कुछ पीने नहीं दिया जा रहा है. मैं बिस्तर से उठ नहीं सकता और न ही कहीं जा सकता हूं. मैं अपने आपको बीमार महसूस कर रहा हूं. मैं पहले दिन में 3-4 लीटर कोल्ड्रिंक पी सकता था लेकिन अब मुझे सिर्फ 100-100 मिली करके लिक्विड पीने दिया जा रहा है.”

जेसन ने आगे बताया, “मैंने महीनों पहले स्मोकिंग करना छोड़ दिया है. मैं दिन में सिर्फ एक बार ही खाना खा रहा हूं. दिन भर लेटा रहता हूं. मुझे नहीं लगता कि कभी व्हील चेयर पर भी बैठ पाऊंगा. हालांकि सभी मुझसे कहते हैं कि मुझे ऐसा नहीं सोचना चाहिए. लेकिन मुझे अपने भविष्य की चिंता होने लगी है.”

Share:

Next Post

ऑस्कर के लिए नॉमिनेट हुई गुजराती फिल्म 'छेल्लो शो', द कश्मीर फाइल्स और RRR को पछाड़ा

Wed Sep 21 , 2022
नई दिल्‍ली। गुजराती फिल्म ‘छेल्लो शो’ ( Chhello Show) 95वें अकादमी पुरस्कारों यानी ऑस्कर 2023 के लिए बेस्ट फॉरेन फिल्म की कैटिगरी के लिए भारत (India) की ओर से आधिकारिक रूप से नॉमिनेट की गई है। डायरेक्टर पी नलिन (Director p nalin) की इंटरनेशनल फिल्म ‘छेल्लो शो’ का अंग्रेजी नाम ‘लास्ट फिल्म शो’ है और […]