चुनाव 2024 देश राजनीति

BJP ने राहुल गांधी को 10-11 साल पुराने वीडियो पर घेरा, PM मोदी ने भी कांग्रेस पर उठाए सवाल

झारग्राम (Jhargram) । कांग्रेस (Congress) के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के एक पुराने वीडियो (Old videos) को लेकर भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) हमलावर हो गई है। इस वीडियो में राहुल कथित तौर पर मुसलमानों के लिए आरक्षण का समर्थन करते नजर आ रहे हैं। साथ ही वीडियो में समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव पर भी निशाना साधते नजर आ रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस वीडियो को लेकर कांग्रेस पर सवाल उठाए हैं।

पश्चिम बंगाल में एक जनसभा के दौरान पीएम मोदी ने कहा, ‘मैंने सोशल मीडिया पर कांग्रेस के शहजादे का एक वीडियो देखा है। 11-12 साल पुराने इस वीडियो में कांग्रेस के शहजादे खुलेआम कह रहे हैं कि कांग्रेस पार्टी मुसलमानों को आरक्षण देगी। एक तरफ उस समय के प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह यह बार बार कहते थे कि देश के संसाधनों पर पहला अधिकार मुसलमानों का है।’


उन्होंने कहा, ‘दूसरी तरफ रिमोट कंट्रोल से सरकार चला रहे शहजादे का यह कहना कि कांग्रेस मुसलमानों को आरक्षण देगी। यही कांग्रेस की सच्चाई है, जिसे कांग्रेस और उसके इकोसिस्टम ने बरसों तक देशवासियों के सामने नहीं आने दिया।’

वीडियो में क्या
वीडियो के अनुसार, राहुल को कहते हुए सुना जा सकता है, ‘आरक्षण की बात उठाई, मुलायम सिंह यादव तीन बार मुख्यमंत्री बने। एक बार भी आरक्षण के बारे में नहीं बोला। प्रेस वालों ने 2-3 कोटा के बारे में पूछा, लेकिन सन्नाटा छा गया। मनमोहन सिंह कहते है कि हां हम मुसलमानों को आरक्षण देंगे, हम उन्हें शामिल करेंगे।’ उन्होंने आगे कहा, ‘और तब मुलायम सिंह कहते थे कि मैं होता तो ज्यादा करता। लेकिन आप तीन बार सत्ता में थे, तो आपने क्यों नहीं किया?’

पीएम मोदी ने कहा था- किसी को खास नागरिक नहीं मानेंगे
मीडिया ने जब पीएम मोदी से उनके बयानों के कारण अल्पसंख्यकों के बीच पैदा हुई आशंकाओं के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘मैंने अल्पसंख्यकों के खिलाफ एक शब्द भी नहीं बोला है। मैं केवल कांग्रेस की वोट बैंक की राजनीति के खिलाफ बोल रहा हूं। कांग्रेस संविधान के विरुद्ध काम कर रही है, यही बात मैं कहता रहा हूं।’

पीएम मोदी ने कहा कि बी आर आंबेडकर और जवाहरलाल नेहरू समेत भारतीय संविधान के निर्माताओं ने फैसला किया था कि धर्म के आधार पर कोई आरक्षण नहीं होगा। उन्होंने कहा, ‘अब आप उससे पलट रहे हो। उनका खुलासा करना मेरी जिम्मेदारी है। उस समय संविधान सभा में मेरी पार्टी का कोई सदस्य नहीं था। यह देशभर के उत्कृष्ट लोगों की सभा थी।’

प्रधानमंत्री से जब एक बार फिर पूछा गया कि क्या उनके चुनावी भाषणों में कभी अल्पसंख्यकों को निशाना नहीं बनाया गया तो उन्होंने कहा, ‘भाजपा कभी अल्पसंख्यकों के खिलाफ नहीं रही। केवल आज ही नहीं, बल्कि कभी भी नहीं।’ उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस तुष्टीकरण के रास्ते पर चलती है। प्रधानमंत्री ने कहा, ‘वह लोग तुष्टीकरण के रास्ते पर चलते हैं, मैं संतुष्टीकरण के रास्ते पर चलता हूं।’

उन्होंने कहा, ‘उनकी राजनीति तुष्टीकरण की है, मेरी राजनीति ‘सबका साथ सबका विकास’ की है। हम ‘सर्व धर्म समभाव’ में विश्वास रखते हैं। हम सभी को अपने साथ लेकर चलना चाहते हैं। हम किसी को खास नागरिक के तौर पर स्वीकार करने को तैयार नहीं हैं, बल्कि सभी को समान समझते हैं।’

Share:

Next Post

रईसी की मौत से ईरान के सुप्रीम लीडर के उत्तराधिकारी की रेस हुई दिलचस्प, रईसी के काल में भारत से रिश्ते

Tue May 21 , 2024
तेहरान: ईरानी राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी (iranian president ibrahim raisi) की मौत के बाद भारत (india) समेत पूरी दुनिया (world) की नजर ईरान (iran) पर है। रईसी ऐसे समय में हादसे का शिकार हुए जब पश्चिम एशिया अस्थिरता से जूझ रहा है। यहां ईरान की भूमिका पर खास ध्यान दिया जा रहा था। ऐसी स्थिति में […]