जीवनशैली स्‍वास्‍थ्‍य

स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बेहद फायदेमंद है करी पत्‍ता, इस तरह करें इस्‍तेमाल, मिलेंगे कमाल के फायदें


आमतौर पर खानें का स्‍वाद बढ़ाने के लिए करी पत्‍ते का इस्‍तेमाल किया जाता है । लेकिन क्या आपने कभी सेहत को दुरुस्त रखने के लिए करी पत्ते या इसके जूस (Curry leaf juice) का सेवन किया है? दरअसल करी पत्ता केवल स्वाद के लिए ही इस्तेमाल नहीं किया जाता है. ये सेहत को भी कई तरह से फायदे पहुंचाता है. इसमें मौजूद आयरन, जिंक, कॉपर, कैल्शियम, विटामिन ‘ए’ और ‘बी’, अमीनो एसिड, प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट और फोलिक एसिड (folic acid) जैसे पोषक तत्व सेहत को दुरुस्त रखने में मदद करते हैं। आइए मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार जानते हैं कि करी पत्ते का जूस किस तरह से तैयार किया जाता है और ये सेहत को क्या-क्या फायदे पहुंचाता है।

इस तरह करें इस्‍तेंमाल
करी पत्ते का जूस (curry leaf juice) तैयार करने के लिए पंद्रह-बीस करी पत्तों को धोकर साफ़ कर लें। इनको मिक्सर में डालकर साथ में दो चम्मच पानी डालकर बारीक पीस लें। जब ये पेस्ट की तरह से बन जाये तो इसको मिक्सर जार में ही रहने दें और इसमें एक गिलास पानी डालकर फिर से मिक्सर चला दें। अब इसको चाय की छन्नी से गिलास में छान लें और इसका सेवन करें।


फायदें
ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करके डाइबिटीज के पेशेंट को राहत देता है। इसमें एंटी-डायबिटिक एंजेट की मौजूदगी शरीर में इंसुलिन की एक्टिविटी पर असर डालती है और ब्लड शुगर लेवल (blood sugar level) को कंट्रोल करती है। साथ ही साथ करी पत्ते में मौजूद फाइबर भी डायबिटीज पेशेंट को फायदा पहुंचाता है ।

करी पत्ते के जूस का सेवन करने से एनीमिया की दिक्कत दूर होती है। इसमें काफी मात्रा में आयरन और फोलिक एसिड होता है जो एनीमिया (anemia) को दूर करने में मदद करता है।

शरीर से विषाक्त तत्वों (toxic elements) को निकालकर बॉडी को डिटॉक्स करने का काम भी करी पत्ते का जूस बखूबी करता है। इसके साथ ही ये एक्स्ट्रा चर्बी को हटाने में भी काफी मदद करता है।

वजन कम (lose weight) करने में करी पत्ते का जूस काफी मदद करता है। जो लोग जूस पीना पसंद नहीं करते हैं वो इसके पत्तों का सेवन भी खाने के साथ कर सकते हैं। ये चर्बी को घटाता है और इसमें मौजूद फाइबर (fiber) बॉडी से टॉक्सिन बाहर करता है।

आंखों की रोशनी बढ़ाने में भी करी पत्ते का जूस मदद करता है। इसमें मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट (anti-oxidant) इसमें मददगार साबित होते हैं। साथ ही ये मोतियाबिंद जैसी दिक्कत भी जल्दी नहीं होने देते हैं। आप चाहें तो जूस की जगह पत्तों का सेवन भी कर सकते हैं।

करी पत्ते के जूस का सेवन करने से पाचन तंत्र (Digestive System) को मजबूती मिलती है। इसके साथ ही पेट में गैस, अपच जैसी दिक्कत को दूर करने में भी ये अच्छी भूमिका निभाता है।

नोट- उपरोक्‍त दी गई जानकारी व सुझाव सामान्‍य सूचना उद्देश्‍य के लिए है इन्‍हें किसी चिकित्‍सक के रूप में न समझें। हम इसकी सत्‍यता की जांच का दावा नही करतें कोई भी सवाल या परेशानी हो तो विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें ।

Share:

Next Post

105 टन ऑक्सीजन क्षमता हो जाएगी इंदौर की

Sat Jun 19 , 2021
कलेक्टर ने 6 सदस्यीय कमेटी भी गठित की… 40 अस्पतालों में प्लांट का काम चल रहा है इंदौर।कोरोना की दूसरी लहर में सबसे ज्यादा परेशानी ऑक्सीजन को लेकर हुई, जिसके अभाव में मरीजों ने दम भी तोड़ा। हालांकि इंदौर कलेक्टर और उनकी टीम ने जबरदस्त ऑक्सीजन का मैनेजमेंट किया और देश के बड़े शहरों की […]